Blog

बिना तोड-फोड करें वास्‍तु समाधान

इसमें दो राय नहीं कि वास्‍तु पर लोगों का विश्‍वास बढ रहा है। घर हो, दफ्तर या मल्‍टी स्‍टोरी बिल्डिंग्‍स, ऑर्किटेक्‍ट और इंटीरियर डेकोरेटर की तरह वास्‍तु विशेषज्ञ के बजट को भी लोग अपने कंस्‍ट्रक्‍शन बजट में शामिल करने लगे हैं। बेशक यह निर्णय समझदारी पूर्ण है कि निर्माण के समय ही वास्‍तु विशेषज्ञ की राय ले ली जाए।

मुसीबत तब उत्‍पन्‍न होती है जब हमें पता लगता है कि हमारे पूर्व निर्मित भवन में कोई गंभीर वास्‍तु दोष है। आनन-फानन में हम किसी परिचित या नौसिखिया वास्‍तु विशेषज्ञ से मशवरा कर डालते हैं और वह हमें भवन में तोड-फोड कर वास्‍तु दुरूस्‍त करने का परामर्श दे डालता है। भवन में तोड-फोड करना और पुन: निर्माण करना कोई हंसी-खेल तो है नहीं। फिर हमारा मानना है कि जब रोग का निदान दवाओं के जरिए हो सकता है तो भला ऑपरेशन करने की क्‍या आवश्‍यकता।

हां, तोड-फोड के परामर्श लोगों का वास्‍तु से मोह अवश्‍य भंग कर देते हैं। आपको बता दें कि वास्‍तु तोड-फोड का शास्‍त्र कतई नहीं है। अगर आप भी ऐसा मानते आए हैं, तो अपनी यह भ्रान्ति तोड दीजिए। वास्‍तु शास्‍त्र में ऐसे कई प्रभावशाली उपाय एवं गजैट्स हैं, जिनके इस्‍तेमाल से किसी स्‍थान विशेष या स्थिति विशेष की वजह से बनने वाले वास्‍तु दोष का प्रभाव समाप्‍त या कमजोर हो जाता है।

आइए जानते हैं, ऐसे कुछ वास्‍तु गैजेट्स के बारे में जिनकी सहायता से बिना तोड-फोड वास्‍तु दोष निवारण किया जा सकता है।

  1. पौधे- वास्‍तु शास्‍त्र में पौधों का विशेष महत्‍व है। खासकर तुलसी, बैम्‍बू ट्री, मनी प्‍लांट आदि। कुशल वास्‍तुशास्‍त्री कई प्रकार के वास्‍तु दोष निवारण केवल पौधों के माध्‍यम से करते हैं। उदाहरणार्थ अगर सीढियां ठीक प्रवेश द्वार के सामने बनी हों, तो वहां ऐसे पौंधों के गमले लगाकर वास्‍तु दोष निवारण किया जा सकता है। ऐसे ही कई और वास्‍तु दोषों का निवारण भी पौधों के माध्‍यम से संभव है।
  2. शीशे- शीशे यानी मिरर का वास्‍तु से गहरा संबंध है। कनवेक्‍स मिरर या फेंग्‍शुई पा-क्‍वा मिरर ऐसे चमत्‍काकरी गैजेट हैं, जिनकी सहायता से कई गंभीर वास्‍तु दोषों को दूर किया जा सकता है। किसी स्‍थान से नकारात्‍मक ऊर्जा के विस्‍थापन हेतु भी वास्‍तु शास्‍त्री मिरर का उपयोग करते हैं।
  3. प्रकाश- किसी भी भवन के लिए प्राकृतिक प्रकाश बेहद आवश्‍यक है। किसी दिशा विशेष में, जहां वास्‍तु के अनुसार, प्रकाश होना आवश्‍यक है, अगर वहां प्राकृतिक प्रकाश नहीं पहुंच रहा है तो वास्‍तु विशेषज्ञ विविध रंगों के कृत्रिम प्रकाश के जरिए उस स्‍थान का वास्‍तु दोष दूर करने में सहायता करते हैं। जैसे कि वास्‍तु के अनुसार, प्रवेश द्वार पर प्रकाश का उचित प्रबंध होना आवश्‍यक है। इसी तरह अगर आपका कमरा उत्‍तर-पश्चिम में बना है और वहां प्रकाश का समुचित स्रोत नहीं है, तो यह आपके लिए कई तरह की शारीरिक व आर्थिक परेशानियों का सबब बन सकता है। ऐसे में कुशल वास्‍तु शास्‍त्री कृत्रिम प्रकाश को वास्‍तु दोष निवारण हेतु इस्‍तेमाल करते हैं।
  4. स्‍टोन पिरामिड- पत्‍थर का यह त्रिकोणाकार टुकडा कोई सामान्‍य वस्‍तु नहीं है। आपने मिस्र के पिरामिडों के बारे में अवश्‍य सुना होगा। मगर शायद यह नहीं जानते होंगे कि पिरामिड शक्ति का अद्भुत स्रोत होते हैं। पिरामिड दो शब्‍दों यानी पिरा अर्थात आग और मिड यानी मिडल अर्थात केंद्र से मिलकर बना है। यहां आग का अर्थ शक्ति यानी ऊर्जा से है। पिरामिड के केंद्र में ऊर्जा का जो अविलक्षण स्रोत होता है यह उसी को परिभाषित करता है। किसी स्‍थान की नकारात्‍मक ऊर्जा को सोखने और उसे सकारात्‍मक ऊर्जा में तब्‍दील करने की शक्ति रखते हैं स्‍टोन पिरामिड, अगर इन्‍हें किसी कुशल वास्‍तुशास्‍त्री के मार्गदर्शन में स्‍थापित कराया जाए।
  5. यंत्र- धातु की वर्गाकार और कभी-कभी आयताकार प्‍लेटें, जिन पर कुछ नंबर्स या स्‍वर एवं व्‍यंजन गुदे होते हैं वास्‍तव में यंत्र होते हैं। शब्‍द शक्ति के परिचायक ये यंत्र देखने में जितने सामान्‍य लगते हैं, उतने सामान्‍य होते नहीं हैं। विशेष पूजा एवं मंत्र शक्तियों से इन्‍हें ऊर्जावान किया गया होता है। वास्‍तु दोष दूर करने में ये बेहद कारगर साबित होते हैं।
  6. एनर्जी प्‍लेट- प्‍लास्टि की बनी हुई यह चौकार, लगभग आठ इंच चौडी और आधा इंच मोटी प्‍लेट जिस पर अक्‍सर स्‍वास्तिक या ऐसे ही कोई शुभ चिह्न बना होता है, वास्‍तु शास्‍त्र में एनर्जी प्‍लेट यानी ऊर्जा प्‍लेट कही जाती है। यह ऊर्जा प्‍लेट भी किसी यंत्र की भांति कार्य करती है, जिसे रिहायशी व कमर्शियल इमारतों में कई तरह के वास्‍तु दोषों के निवारण के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। स्‍वास्तिक के चिह्न वाली एनर्जी प्‍लेट को अगर भवन के प्रवेश द्वार पर लगाया जाए तो यह परिवार के सदस्‍यों को स्‍वास्‍थ्‍य व संतुलन प्रदान करती है।
  7. विंड चाइम- विंड चाइम को हम पवन घंटी भी कहते हैं। इन्‍हें वास्‍तु के सथ-साथ र्फंग्‍शुई में भी विशेष अहमियत प्राप्‍त है। धातु के पतले-पतले, खोखले पाइप वाली विंड चाइम्‍स को दरवाजे की चौखट या खिडकी पर लटकाया जाता है, जो हवा के झोंके से मधुर ध्‍वनि उत्‍पन्‍न करती है। नकारात्‍मक ऊर्जा के निष्‍कासन के लिए यह भी एक बेहतरीन गैजेट है।

उपरोक्‍त के अलावा भी वास्‍तु में ऐसे अनेक गैजेट्स हैं जो स्‍थान और आवश्‍यकता के अनुरूप वास्‍तु दोष दूर करने में सहायक होते हैं। लेकिन ऐसे किसी भी गैजेट का सही लाभ पाने के लिए हमें उचित मार्गदर्शक की भी आवश्‍यकता है। बेहतर है कि ऐसे संजीदा मामलों में हम स्‍व-प्रयोग करने के बजाए किसी कुशल वास्‍तु शास्‍त्री की मदद लें।

free vector

Leave a Comment

Name*

Email* (never published)

Website