Vastu without demolition

बिना तोड-फोड करें वास्‍तु समाधान

इसमें दो राय नहीं कि वास्‍तु पर लोगों का विश्‍वास बढ रहा है। घर हो, दफ्तर या मल्‍टी स्‍टोरी बिल्डिंग्‍स, ऑर्किटेक्‍ट और इंटीरियर डेकोरेटर की तरह वास्‍तु विशेषज्ञ के बजट को भी लोग अपने कंस्‍ट्रक्‍शन बजट में शामिल करने लगे हैं। बेशक यह निर्णय समझदारी पूर्ण है कि निर्माण के समय ही वास्‍तु विशेषज्ञ की राय ले ली जाए। मुसीबत तब उत्‍पन्‍न होती है जब हमें पता लगता है कि हमारे पूर्व निर्मित भवन में कोई गंभीर वास्‍तु दोष है। आनन-फानन में हम किसी परिचित या नौसिखिया वास्‍तु विशेषज्ञ से मशवरा कर डालते हैं और वह हमें भवन में तोड-फोड कर वास्‍तु दुरूस्‍त करने का परामर्श दे डालता है। भवन में तोड-फोड करना और पुन: निर्माण करना कोई हंसी-खेल तो है नहीं। फिर हमारा मानना है कि जब रोग का निदान दवाओं के जरिए हो सकता है तो भला ऑपरेशन करने की क्‍या आवश्‍यकता। हां, तोड-फोड के परामर्श लोगों का वास्‍तु से मोह अवश्‍य भंग कर देते हैं। आपको बता दें कि वास्‍तु तोड-फोड का शास्‍त्र कतई नहीं है। अगर आप भी ऐसा मानते आए हैं, तो अपनी यह भ्रान्ति तोड दीजिए। वास्‍तु शास्‍त्र में ऐसे कई प्रभावशाली उपाय एवं गजैट्स हैं, जिनके इस्‍तेमाल से किसी स्‍थान विशेष या स्थिति विशेष की वजह से बनने वाले वास्‍तु दोष का प्रभाव समाप्‍त या कमजोर हो जाता है। आइए जानते हैं, ऐसे कुछ वास्‍तु गैजेट्स के बारे में जिनकी सहायता से बिना तोड-फोड वास्‍तु दोष निवारण किया जा सकता है। पौधे- वास्‍तु शास्‍त्र में पौधों का विशेष महत्‍व है। खासकर तुलसी, बैम्‍बू ट्री, मनी प्‍लांट आदि। कुशल वास्‍तुशास्‍त्री कई प्रकार के वास्‍तु दोष निवारण केवल पौधों के माध्‍यम से करते हैं। उदाहरणार्थ अगर सीढियां ठीक प्रवेश द्वार के सामने बनी हों, तो वहां ऐसे पौंधों के गमले लगाकर वास्‍तु दोष निवारण किया जा सकता है। ऐसे ही कई और वास्‍तु दोषों का निवारण भी पौधों के माध्‍यम से संभव है। शीशे- शीशे यानी मिरर का वास्‍तु से गहरा संबंध है। कनवेक्‍स मिरर या फेंग्‍शुई पा-क्‍वा मिरर ऐसे चमत्‍काकरी गैजेट हैं, जिनकी सहायता से कई गंभीर वास्‍तु दोषों को दूर किया जा सकता है। किसी स्‍थान से नकारात्‍मक ऊर्जा के विस्‍थापन हेतु भी […]